बंदरों के आतंक से नगरवासी परेशान, स्कूली बच्चे भय के साए में

बंदरों के आतंक से नगरवासी परेशान, स्कूली बच्चे भय के साए में


विप्र.
नवादा (रवीन्द्र नाथ भैया) जिले के हिसुआ नगर वासी दर्जन भर बंदरों के आतंक से परेशान हैं। ये शरारती बंदर कब किस राहगीर का सामान छिन ले भागे, कहां किसकी छत पर का कपड़ा लेकर भाग जाए, कहा नहीं जा सकता। बंदर आने जाने वालों को रोक कर सामान छीन ले जाते हैं।

बंदरों के आतंक से स्कूली बच्चे डर के साए में जी रहे हैं। मकानों की छतों पर जम कर उत्पात मचाते हुए पानी की टंकियों के ढक्कन खोल कर उसके पानी में जम कर नहाते हैं। यदि कोई उन्हें भगाने जाए तो वह उसे काटने के लिए दौड़ते हैं। इसके अलावा बंदर छतों पर सुखाने के लिए लटकाए गए कपड़ों को भी फाड़ देते हैं।

इन मोहल्ले में सबसे अधिक आतंक:-

सबसे अधिक बंदरों का आतंक प्रोफेसर कालोनी, जयप्रकाश नगर , न्यू कालोनी , कंचनबाग , ब्रह्मर्षि कालोनी, कुर्मी टोला, नौआ बागी मोहल्ला में है। यहां बंदरों के उत्पात से सभी आतंकित है। 

प्रोफेसर कालोनी में छत से कपड़े उतार रही महिला आभा देवी के हाथ पर बंदर ने काटने की कोशिश की। साथ ही बंदर छत पर सूख रहे कपड़े भी फाड़ दिए। पूरे नगर में लगभग 20 से 30 बंदर पूरे दिन मोहल्ले में उत्पात मचाए रहते हैं।

बच्चों पर हमले का डर:-

पिछले दिनों न्यू कालोनी निवासी नवीन सिंह की रसोई में बंदरों ने जमकर उत्पात मचाया। एक साथ रसोई में पांच बंदर घुस गए और सारा सामान बिखेर दिया। 

कालोनी निवासी ने बताया कि दो दिन पहले दो साल का एक लड़का बरामदे में खेल रहा था। आधा दर्जन बंदरों ने उसे घेर लिया। डर के मारे बच्चे की हालत ख़राब हो गई।बीएसएनएल एक्सचेंज के निकट भी बंदरों का आतंक है।

राहगीर व स्कूली बच्चों का यहां से गुजरना मुश्किल हो गया है। बंदरों की हिमाकत देखिए कि बगल के हास्पिटल तक ये पहुंचकर उन्हें भी परेशान करते हैं। कालोनी वासियों ने मांग किया है कि प्रशासन इन बंदरों की हरकतों पर अंकुश लगाए। इन्हें पकड़कर दूर जंगल में ले जाए।

नवल सिंह ने बताया कि अधिक संख्या में बंदर के आ जाने से हम बुजुर्गों को काफी डर सताने लगा है। दुकानदार शंकर कुमार ने बताया कि अत्यधिक बंदर हो जाने के कारण मोहल्ले में उनका आतंक बढ़ गया है, दुकान के बाहर लटकता चिप्स, कुरकुरे का पैकेट बंदर ले भागते हैं। नुकसान होता है। 

कहते हैं अधिकारी:-

बंदरों से शहरवासियों को हो रही परेशानी को लेकर वन अधिकारी से बात करके समस्या से निभाते दिलाने की पहल की जाएगी। रितेश कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी, हिसुआ:

हमारे Whatsapp Group को Join करें, और सभी ख़बरें तुरंत पाएं (यहीं क्लिक करें - Click Here)

Previous Post Next Post