स्कूटी कंपनी खोलने के नाम पर 25 लाख की ठगी, मोटी कमाई का झांसा देकर लगा रहे थे चूना, चार शातिर गिरफ्तार

स्कूटी कंपनी खोलने के नाम पर 25 लाख की ठगी, मोटी कमाई का झांसा देकर लगा रहे थे चूना, चार शातिर गिरफ्तार



विप्र.
नवादा (रवीन्द्र नाथ भैया) जिला मुख्यालय में इलेक्ट्रिक स्कूटी के एसेंबल यूनिट शुरू करने के नाम पर बड़ा ठगी करने का मामला प्रकाश में आया हैं। इलेक्ट्रिक स्कूटी के एसेंबल यूनिट और डीलरशिप देने के नाम पर शहर के पोस्टमॉर्टम रोड के अनिल कुमार से 25 लाख रुपये की ठगी कर ली गई। पीड़ित की मानें तो मोटी कमाई का झांसा देकर शातिर लोगों को चूना लगा रहे थे। ठगी की वारदात 16 जनवरी 2023 की बताई जाती है।

पीड़ित अनिल कुमार ने बताया कि नवादा में Rapid infoweb services & Rapid Evechiles इलेक्ट्रिक स्कूटी के एसेंबल यूनिट शुरू करने और एजेंसी के नाम पर 25 लाख रुपये की ठगी की गई । एक साल गुजर जाने के बाद भी कुछ नहीं हुआ तो अंत में ठगी के बारे में महसूस हुआ तो नगर थाना की पुलिस से शिकायत की गयी।

इसके बाद नाटकीय ढंग से सभी ठग को जिले में एक और इलेक्ट्रिक स्कूटर एजेंसी और एसेंबल यूनिट लेने की बात और 50 लाख देने का झांसा देकर सभी शातिर ठग को यूपी और पटना से नवादा बुलाया गया और लोगों ने सभी ठग को नगर थाना की पुलिस के हवाले कर दिया।

पीड़ित अनिल ने ठगी का आरोप पटना के गर्दनीबाग रोड नंबर 15 के राकेश यादव, छपरा के मशरख गांव वर्तमान पता उतर प्रदेश के गाजियाबाद राज नगर के मानस मधुकर पिता मनीष मधुकर, पटना फुलवारीशरीफ बिड़ला कॉलोनी की प्रिया सिन्हा पति मानस मधुकर और नितिन सिंह पिता चंद्र भूषण सिंह पर आरोप लगाया है।

पुलिस के हिरासत में रहे आरोपी मानस मधुकर ने मीडिया को बताया कि राकेश यादव जो पटना गर्दनीबाग का है, वो नवादा के अनिल कुमार से इलेक्ट्रिक स्कूटी के एजेंसी के नाम पर 25 लाख रुपया का फ्रॉड किया है। हम उनके कंपनी में काम करते हैं। फिलहाल पुलिस सभी को अपने हिरासत में रखी है। अभी पटना का शातिर ठग राकेश यादव पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

नगर थाना की पुलिस ने 4 युवकों को शहर के पोस्टमॉर्टम रोड के निकट से हिरासत में लेकर थाने लायी और पूछताछ में जुट गई है।

हमारे Whatsapp Group को Join करें, और सभी ख़बरें तुरंत पाएं (यहीं क्लिक करें - Click Here)

Previous Post Next Post