जंगली फल खाने से महादलित बच्चों की बिगड़ी तबीयत, सदर अस्पताल में भर्ती

जंगली फल खाने से महादलित बच्चों की बिगड़ी तबीयत, सदर अस्पताल में भर्ती


विप्र.
नवादा (रवीन्द्र नाथ भैया) नगर थाना क्षेत्र के गोनांवा में जंगली फल खाने से आधा दर्जन महादलित बच्चों की तबीयत बिगड़ गई। बच्चों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी स्थिति खतरे से बाहर बतायी जा रही है। 

बताया जाता है कि शिव नगर गोनवां मुहल्ले में जंगली फल खाने से 6 बच्चों की हालत बिगड़ गयी। सभी को आनन फानन में सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया  जहां उनका इलाज किया जा रहा है। घटना की सूचना के बाद परिजनों के साथ आस-पास के इलाके मेंने कोहराम मच गया। 

इन बच्चों की बिगड़ी तबीयत: -जिन बच्चों की तबीयत बिगड़ी है, उनमें मिथुन मांझी का पुत्र विकास कुमार (10), कमलेश मांझी का पुत्र लक्षण कुमार (8), रविंद्र मांझी का पुत्र रौशन कुमार (6), असरफी मांझी का पुत्र प्रदीप कुमार (5) और संदीप कुमार (8) और सारजन मांझी का पुत्र आशिक कुमार (12) शामिल है। 

बच्चों ने खाया था जंगली फल:- बताया गया कि शिवनगर गोनवां मुहल्ले में सरकारी आईटीआई के पास नर्सरी में सभी बच्चे खेल रहे थे, उसी दौरान जंगली फल पर नजर पड़ी और पका हुआ देख सभी ने खा लिया।जंगली फल खाने के थोड़ी देर बाद एक-एक कर सभी बच्चे उल्टी करने लगे और फिर धीरे-धीरे बेहोश होने लगे। परिजनों को इसकी जानकारी मिली तो उन्हें सदर अस्पताल में भर्ती कराया। 

खतरे से बाहर :- अस्पताल में डॉक्टरों के द्वारा सभी का इलाज किया जा रहा है। इलाज कर रहे चिकित्सकों ने बताया कि 'फिलहाल बच्चों की स्थिति इलाज के बाद ठीक है, बच्चे खतरे से बाहर हैं। सभी बच्चों का आवश्यक उपचार किया जा रहा है। 

"खेलने के दौरान बच्चों ने जंगली फल खा लिया, जिससे उनकी तबीयत बिगड़ी गई. बच्चों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनकी स्थिति खतरे से बाहर है."- तनिक मांझी:

हमारे Whatsapp Group को Join करें, और सभी ख़बरें तुरंत पाएं (यहीं क्लिक करें - Click Here)

Previous Post Next Post