गणतंत्र दिवस पर खादी के तिरंगे ने तोड़ी रिकॉर्ड, ढ़ाई लाख रूपये का बेचा तिरंगा झंडा - Republic Day

गणतंत्र दिवस पर खादी के तिरंगे ने तोड़ी रिकॉर्ड, ढ़ाई लाख रूपये का बेचा तिरंगा झंडा - Republic Day


नवादा (रवीन्द्र नाथ भैया) गणतंत्र दिवस को लेकर जिले भर में तैयारी पूरी कर ली गई है। झंडोत्तोलन के लिये तिरंगा की खरीदारी को लेकर दिनों भर बाजारों में गहमा-गहमी बनी रही़, लेकिन बाजार में बिकने वाली तिरंगा झंडा को खादी ने पीछे कर दिया़। गणतंत्र दिवस के एक दिन पूर्व तक खादी प्रतिष्ठानों में राष्ट्रीय ध्वज की खरीदारी को लेकर काफी भीड़ लगी रही़। प्रतिष्ठान में सरकारी संस्थाएं ही नहीं निजी संस्थाओं ने भी खादी के राष्ट्रीय ध्वज की खरीदारी करने पहुंच रहे थे़। 

इस बार खादी ने अपने प्रतिष्ठानों में रिकॉर्ड बिक्री कर लक्ष्य को पूरा करने में सफलता हासिल किया है़। इसबार गणतंत्र दिवस पर खादी के तिरंगा सहित अन्य सामग्रियों की भी बिक्री किया गया है़। लक्ष्य के अनुरूप पूरे जिले में ढ़ाई लाख की बिक्री किया गया। 

खादी के तिरंगा झंडा के अलावा राष्ट्रीय पर्व को लेकर खादी के कुर्ता-पायजामा, गांधी टोपी, बंडी तथा डोरी की खरीदारी करने लोग जुटे थे़।

बताया जाता है कि सात वर्ष पूर्व सरकार ने महादलित टोलों में तिरंगा फहराने का अभियान शुरू किया था़, परंतु इस बार लोगों में जागरूकता जगी है और खादी के प्रतिष्ठानों में खरीदारी करने लोग जुटे़। खादी के तिरंगा खरीदने का मुख्य वजह यह है कि इसके निर्माण में नियमों का पूरा ख्याल रखा जाता है और साईज भी सही रहता है़। इसके अलावा मार्केट में बिकने वाले तिरंगा केवल मध्यम साईज का होता है, जबकि खादी का तिरंगा हर साईज का मिलता है़। सबसे बड़ा तिरंगा 24 स्क्वायर फीट का भी निर्माण किया जाता है, जो मार्केट में मिलना असम्भव है़। 

राष्ट्रीय पर्व को लेकर खादी का डिमांड पहले भी हुआ करता था़, लेकिन कुछ सालों से सिंथेटिक कपड़ों के तिरंगा बिक्री शुरू होने से खादी का बिक्री प्रभावित होने लगा था़। इन दिनों जनप्रतिनिधियों में भी खादी के प्रति काफी जागरूकता आई है़।

राष्ट्रीय ध्वज सहित इससे जुड़ी अन्य सामग्रियों का जिला मुख्यालय में डेढ़ लाख का कारोबार किया गया तथा प्रखंडों में एक लाख का कारोबार किया गया। खादी का तिरंगा सहित अन्य वस्त्रों का निर्माण गया जिला में होता है़, यहां से ही पूरे मगध प्रमंडल में आपूर्ति किया जाता है़। 

नवादा के प्रतिष्ठान में कार्यरत सहायक सतीष कुमार, रोकड़पाल शिवकुमार महतो, उमाशंकर प्रसाद तथा सूरज कुमार सहित पूरे जिले में 40 कर्मियों का योगदान लक्ष्य पूरा करने में सराहनीय रहा़। 

कहते हैं ग्राहक:-

राष्ट्रीय पर्व पर हर लोगों को खादी का ही तिरंगा का इसतेमाल करना चहिए, इससे हमारे देश की संस्कृति का विकास होगा़ । युवा वर्ग को इसके लिये जागरूक होना होगा। गणतंत्र दिवस पर अपने विद्यालय में हर साल खादी का तिरंगा खरीदने का काम किया करते हैं। 

अनुप थॉमस, प्रिन्सपल, संत टेरेसा इंग्लिश हाई स्कूल, वारिसलीगंज, नवादा:

कहते हैं प्रबंधक:-

राष्ट्रीय पर्व पर इस साल खादी के तिरंगा का बिक्री लक्ष्य के अनुरूप बेहतर रहा है़। पूरे जिले में इस साल कारोबार ढ़ाई लाख तक बिक्री किये जाने के लक्ष्य को पूरा कर लिया गया है़। सभी प्रतिष्ठानों के कर्मियों का सहयोग काफी रहा है़। इसमें लोगों के अंदर जो जागरूकता बढ़ी है। उसी का परिणाम है कि तिरंगा ही नहीं खादी के टोपी, कुर्ता व पायजामा आदि सामानों की बिक्री हुई है़।                     जयनारायण प्रसाद जायसवाल प्रबंधक, खादी भवन नवादा:

हमारे Whatsapp Group को Join करें, और सभी ख़बरें तुरंत पाएं (यहीं क्लिक करें - Click Here)

Previous Post Next Post