पंचायती राज पदाधिकारी बन साइबर ठगों ने किया 30 हजार रूपया की ठगी

पंचायती राज पदाधिकारी बन साइबर ठगों ने किया 30 हजार रूपया की ठगी


विप्र.
 विकाश सोलंकी की रिपोर्ट रजौली 

रजौली (नवादा) यू तो हर रोज साइबर ठग अपने जाल में सैकड़ो लोगो को तरह तरह के हथकंडे अपना कर ठगी का शिकार बनाते हैं।इस बार ठगी का शिकार हरदिया पंचायत के वार्ड सदस्य हुए।और साइबर ठगों ने उनके खाते से तीस हजार रुपया उड़ा ले गया।पीड़ित वार्ड सदस्य मंसूर आलम ने बताया कि साइबर ठगों के द्वारा मेरे मोबाइल नंबर 7292894222 पर 7042171661 से फोन आया और कहा कि मैं पंचायती राज पदाधिकारी रजौली बोल रहा हूँ।आपका मासिक भत्ता 9 हजार रुपया आया है।अगर आप ऑफिस आ सकते हैं तो आइये और नही तो अपना फोन पे नंबर या गूगल पे नंबर दीजिये उसमे पैसा ट्रांसफर कर देंगे।उसके बाद जैसे ही पीड़ित वार्ड सदस्य ने फ़ोन पे नंबर दिया उसके बाद साइबर ठगों ने ओटीपी भेजा और ओटीपी बताने को कहा जैसे ही वार्ड सदस्य ने ओटीपी बताया वैसे ही तुरन्त उसके खाते से 30 हजार रुपया डेबिट हो गया।ऐसे में अब पीड़ित वार्ड सदस्य सायबर थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराने की बात कही है।विश्वास के प्रतीक आप सभी लोगों से अपील करता है कि साइबर ठग तरह तरह के हथकंडे अपना कर आपको अपना शिकार बना रहे हैं।किसी भी तरह का सरकारी भत्ता सीधे आपके खाते में जाता है ना कि पे फोन या अन्य मध्यम से ऐसे स्थिति में आप किसी भी तरह का फोन कॉल पर विश्वास ना करें।फिर भी अगर ना समझ मे आये तो कार्यालय से संपर्क करें।

हमारे Whatsapp Group को Join करें, और सभी ख़बरें तुरंत पाएं (यहीं क्लिक करें - Click Here)

Previous Post Next Post