पुलिस ने शराब क़ो लेकर किया ताबड़तोड़ छापेमारी, कई शराब भट्ठियां ध्वस्त, हजारों लीटर शराब व महुआ घोल को किया विनष्ट

पुलिस ने शराब क़ो लेकर किया ताबड़तोड़ छापेमारी, कई शराब भट्ठियां ध्वस्त, हजारों लीटर शराब व महुआ घोल को किया विनष्ट


विप्र.
नवादा (रवीन्द्र नाथ भैया) जिले में शराब माफियाओं के खिलाफ नक्सल प्रभावित इलाके के भीषण जंगलों एवं पहाड़ों के बीच चल रहे अवैध शराब भट्ठियों को पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी कर ध्वस्त कर दिया। इस क्रम में सैकड़ों लीटर देशी शराब एवं हजारों लीटर जावा महुआ को विनष्ट कर उपकरणों को जप्त किया है। 

नवादा पुलिस पुलिस अवैध शराब सेवन, निर्माण, बिक्री और भंडारण क़ो लेकर लगातार छापेमारी और गिरफ्तारी कर रही है। कार्रवाई एसपी अंबरीश राहुल के निर्देश पर जिले के रजौली रोह व गोविन्दपुर थाने की पुलिस ने किया है। 

आगामी लोकसभा चुनाव एवं होली पर्व को लेकर वृहत पैमाने पर भंडारण को लेकर शराब निर्माण किया जा रहा था।

रोह में थाना प्रभारी बसंत कुमार के द्वारा ताबड़तोड़ छापामारी कर अवैध रूप से चलने वाले भट्टी को ध्वस्त किया गया । पुलिस की टीम ने रोह थाना क्षेत्र के भूपेश नगर पहाड़ी और जंगल में छापेमारी कर शराब कारोबारियों की मंशा पर पानी फेर दिया। रोह थाना प्रभारी बसंत कुमार ने बताया कि पुलिस ने जहां अवैध रूप से महुआ शराब की चुलाई और शराब बनाने के लिए जावा महुआ तैयार किया जा रहा था। वहां पहुंच कर शराब भट्ठियों को ध्वस्त कर दिया। इस दौरान 4 हजार किलोग्राम जावा महुआ को नष्ट किया गया । आगे भी इसी तरह कार्रवाई की जाएगी। पुलिस की इस कार्रवाई से शराब का धंधा करने वालों में हड़कंप है। पुलिस द्वारा एरिया डोमिनेशन जंगल में किया गया है। कई भट्टी को ध्वस्त किया गया है।

रजौली पुलिस द्वारा थाना क्षेत्र के फरका बुजुर्ग पंचायत के जंगलों में छापेमारी अभियान चलाया गया। प्रभारी थानाध्यक्ष अजय कुमार ने पुलिस बलों के साथ पेलमो, सतपुरवा, करमपुर, सतकटीवा, मनभगवा के जंगल में अवैध शराब को लेकर छापेमारी की। 

छापेमारी के क्रम में पुलिस बलों ने शराब निर्माण करने वाली दर्जनों अवैध शराब भट्ठियों को ध्वस्त कर दिया। साथ ही 8 हजार किलो तैयार जावा महुआ को नष्ट कर दिया।

बता दें कि उक्त जंगल झारखंड राज्य के पारहो पंचायत व बिहार के सवैयाटांड़ पंचायत के चटकरी गांव से सटे होने के कारण शराब माफिया झारखंड के जंगलों का फायदा उठाकर जंगल में फरार हो जाते हैं और पुलिस की पकड़ से बच निकलते हैं। अवैध शराब भट्ठियों पर छापेमारी कर और शराब भट्ठियों को ध्वस्त कर जब पुलिस वापस लौटती है, तो पुलिस से बचकर फरार होने वाले शराब माफिया तुरंत नया शराब भट्टी बना लेते हैं। 

जानकार सूत्रों का कहना है कि अवैध शराब भट्टी संचालकों के खिलाफ पुलिस अगर नियमित रूप से कार्रवाई करे तो शराब माफियाओं को न केवल अवैध शराब निर्माण करने से रोका जा सकता है बल्कि उन्हें गिरफ्तार कर जेल भी भेजा जा सकता है। मौके पर फरका बुजुर्ग, धमनी समेत अन्य जगहों के चौकीदार भी उपस्थित थे।

गोविन्दपुर थाना प्रभारी राजीव कुमार पटेल ने पीपरा में छापामारी कर शराब भट्ठी को ध्वस्त कर एक हजार किलोग्राम जावा महुआ को विनष्ट कर दिया। इस बावत अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर पहचान का प्रयास किया जा रहा है।

हमारे Whatsapp Group को Join करें, और सभी ख़बरें तुरंत पाएं (यहीं क्लिक करें - Click Here)

Previous Post Next Post