आंतरिक संसाधन की समीक्षा बैठक में डीएम ने दिया दो सप्ताह के अंदर लम्बित दाखिल खारिज निष्पादन का आदेशSAMIKSHA

आंतरिक संसाधन की समीक्षा बैठक में डीएम ने दिया दो सप्ताह के अंदर लम्बित दाखिल खारिज निष्पादन का आदेशSAMIKSHA



विप्र.
नवादा (रवीन्द्र नाथ भैया) 

आशुतोष कुमार वर्मा जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में डीआरडीए सभागार में राजस्व, म्यूटेशन, जमाबंदी, परिमार्जन, पेयजल, पंचायत सरकार भवन का निर्माण, भूमिहीन और भवनहीन विद्यालय, लोक शिकायत निवारण, भूअर्जन आदि से संबंधित आंतरिक संसाधन की महत्वपूर्ण बैठक हुई। उन्होंने सभी अंचलाधिकारी को निर्देशित किया कि दो सप्ताह के अंदर म्यूटेशन से संबंधित सभी लंबित को समाप्त करें। जमाबंदी जो ऑनलाईन होता है, उसका मैनूअल रोकड़ में भी सुरक्षित अवश्य रखें। अंचलाधिकारी को निर्देश दिया गया कि आवास विहीन लोगों के लिए जमीन चिन्हित करना सुनिश्चित करें। 

खतियान स्कैनिंग का कार्य तेजी से चल रहा है। 02 लाख 86 हजार जमाबंदी का सत्यापन किया जा चुका है। कोर्ट से संबंधित एमजेसी और सीडब्लूजेसी के संबंध में अधिकारियों को जानकारी दी गयी। प्रखंडों/ पंचायत में पशु अस्पताल के भवन निर्माण के लिए अंचलाधिकारी को जमीन चिन्हित करने का निर्देश दिया। जिन पंचायतों में अबतक सरकार भवन का कार्य निर्माण नहीं हुआ है, वहां भी जमीन चिन्हित करने का निर्देश दिया गया।

भवनहीन विद्यालयों के लिए भी जमीन चिन्हित करने का निर्देश अंचलाधिकारी को दिया गया। डायट के पास शिक्षा भवन के निर्माण के लिए संबंधित अधिकारियों को कई महत्वपूर्ण निर्देश दिया गया। 

पकरीबरावां प्रखंड के सुदूरवर्ती भाग तलहारा जहां बच्चे खुले आसमान के नीचे पढ़ रहे थे वहां प्यूरीफिकेडेट भवन का निर्माण कार्य शुरू कर लिया गया है। तलहारा के सम्पर्क पथ को आरडब्लूडी से पास हो गया है। 

शिक्षा विभाग द्वारा बताया गया कि जिले में 88 प्राथमिक विद्यालय भवनहीन है। और 05 उच्च विद्यालय के पास अपना भवन नहीं है। 

जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक पंचायतों में उच्च विद्यालय खुलना है। जिन पंचायतों में हाई स्कूल नहीं है, वहां के लिए आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करें।

उप विकास आयुक्त के द्वारा प्रधानमंत्री आवास निर्माण की समीक्षा की गई। लोक शिकायत निवारण और आरटीपीएस की समीक्षा जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी के द्वारा किया गया। अकबरपुर अंचलाधिकारी को निर्देश दिया गया कि एसीसी के तहत रैयतों को भुगतान करना सुनिश्चित करें। 

जिले के सभी महादलित टोलों में सामुदायिक भवन का निर्माण होना है, जिसके लिए जमीन चिन्हित करने का निर्देश संबंधित अंचलाधिकारी को दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले की बिजली और पेयजल की सबसे बड़ी समस्या है। बिजली के लिए कार्यपालक अभियंता विद्युत को कई आवश्यक निर्देश दिया गया।

कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को कहा गया कि नल जल योजना की सुविधा सभी टोलों और गांवों तक पहुंचाना सुनिश्चित करें। माप तौल अधिकारी को निर्देश दिया गया कि जिले के सभी पेट्रौल पम्प, धर्मकांटा आदि की जॉच कर यथाशीघ्र प्रतिवेदन दें।

बैठक में उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्त्ता, अनुमंडल पदाधिकारी नवादा सदर/रजौली, डीसीएलआर, गोपनीय प्रभारी, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी, वरीय उपसमाहर्त्ता, अंचलाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी आदि उपस्थित थे।

हमारे Whatsapp Group को Join करें, और सभी ख़बरें तुरंत पाएं (यहीं क्लिक करें - Click Here)

Previous Post Next Post