कौआकोल में पंचायत समिति की बैठक में ली गई दो करोड़ की योजनाएं

कौआकोल में पंचायत समिति की बैठक में ली गई दो करोड़ की योजनाएं


विप्र.
संवाददाता

बैठक में कौआकोल पुलिस,मनरेगा तथा बिजली विभाग का मुद्दा प्रमुखता से छाया रहा

कौआकोल (नवादा) शुक्रवार को कौआकोल प्रखंड कार्यालय सभागार में पंचायत समिति की एक अहम बैठक हुई। जिसमें दो करोड़ की योजनाएं सर्वसम्मति से ली गई।साथ ही इस महत्वपूर्ण बैठक के दरम्यान सभी विभागों के कार्यों की समीक्षा भी की गई।प्रखंड प्रमुख रीना राय की अध्यक्षता एवं कौआकोल  बीडीओ सह पंचायत समिति के कार्यपालक पदाधिकारी तथा उपप्रमुख अनंत कुमार उर्फ नवीन यादव के संयुक्त संचालन में बैठक संचालित की गई।बैठक में 15वीं वित्त आयोग की राशि, षष्ठम वित्त आयोग,टाइड-अनटाइड विकास निधि,अनुरक्षण निधि, सामान्य निधि के सभी पंचायत में योजनाएं ली गयी।इन योजनाओं से चारदीवारी का निर्माण,चबूतरा का निर्माण,अमृत सरोवर,छठ घाट निर्माण,पीसीसी ढलाई, नाली,पेवर ब्लॉक,कब्रिस्तान की घेराबंदी,खेल मैदान,ओपेन जिम, आहर एवं पईन की उड़ाही आदि से संबंधित योजनाएं ली गई।सदन में  सर्वसम्मति से आंगनबाड़ी केंद्र जीर्णोद्धार, सामुदायिक शौचालय, पेयजल आपूर्ति, चापाकल आदि पर प्रस्ताव लिए गए। बैठक में सभी विभागों की समीक्षा भी की गई। बैठक में सीओ,आंगनबाड़ी, दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक महुडर के प्रबंधक, पीएचईडी, पीडब्ल्यूडी तथा श्रम विभाग के अधिकारी नहीं पहुंचे थे। अनुपस्थित रहे इन विभागों के अधिकारियों के प्रति सभी सदस्यों ने एक स्वर से विरोध किया तथा अनुपस्थित रहे अधिकारियों पर स्पष्टीकरण का नोटिस भेजने का प्रस्ताव लिया गया। बैठक में मनरेगा, कौआकोल पुलिस तथा बिजली विभाग का मुद्दा प्रमुखता से छाया रहा। पहाड़पुर पंचायत के समिति सदस्य विजय कुमार ने कौआकोल पुलिस का मुद्दा उठाते हुए कहा कि इन दिनों कौआकोल में साइबर अपराधियों द्वारा बैंक खातों से धड़ल्ले से राशि निकाल ली जा रही है। और जब इस संबंध में पीड़ित लोगों द्वारा कौआकोल पुलिस के यहां प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए जाया जाता है तो पुलिस अधिकारी प्राथमिकी दर्ज करने से कतराते हैं और पीड़ित को उल्टा पुल्टा समझाकर लौटा देने का काम किया जाता है। लिहाजा कौआकोल में साइबर अपराध का धंधा रुकने की बजाय तेजी से बढ़ता जा रहा है। वहीं नावाडीह पंचायत के पंचायत समिति सदस्य नोमिन्ता कुमारी ने बिजली विभाग का मुद्दा उठाते हुए कहा कि जब आम लोग बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन करते हैं तो यहां के बिजली विभाग के जेई तथा उनके सहायक द्वारा येन-केन प्रकारेण आवेदन को रद्द कर दिया जाता है। और उसी व्यक्ति द्वारा जब तीन हजार रुपए उन्हें नजायज ढंग से दी जाती है तो एक दिन में ही कनेक्शन दे दिया जाता है। जिससे क्षेत्र के गरीब तबके के लोग काफी परेशान हैं। वहीं उन्होंने नावाडीह में उच्च माध्यमिक विद्यालय का भवन का निर्माण किए जाने तथा फुलडीह फरहेदा उपस्वास्थ्य केन्द्र में सुरक्षा प्रहरी की प्रतिनियुक्ति किए जाने की मांग को सदन में उठाया। जबकि उपप्रमुख अनंत कुमार उर्फ नवीन यादव ने मनरेगा का मुद्दा प्रमुखता से उठाते हुए कहा कि इंदिरा आवास के लाभुकों की मनरेगा द्वारा भुगतान किए जाने वाला मजदूरी की राशि गैर लाभान्वितों के खातों पर जानबूझकर भेजने का काम किया जा रहा। जिससे उन लोगों में काफी असंतोष है। बैठक में पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. पंकज कुमार पीओ मनरेगा प्रमोद मिस्त्री, बीएओ शंभु प्रसाद, एमओ राजीव कुमार, कल्याण पदाधिकारी साजन स्नेही, दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक भलुआही के प्रबंधक सुरज कुमार के अलावा पीएनबी कौआकोल तथा दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक बड़राजी के प्रबंधक सहित मुखिया इसराइल मियां, भोला प्रसाद गुप्ता,दीपक कुमार, उषा देवी, पंचायत समिति सदस्य रेणु देवी, नोमिन्ता कुमारी, विजय कुमार, निकुंज विश्वकर्मा आदि उपस्थित थे।

हमारे Whatsapp Group को Join करें, और सभी ख़बरें तुरंत पाएं (यहीं क्लिक करें - Click Here)

Previous Post Next Post