औरंगाबाद में वज्रपात के छह की मौत, चार ग्रामीण घायल

औरंगाबाद में वज्रपात के छह की मौत, चार ग्रामीण घायल


- देव थाना के बारा खुर्द गांव में युवक की हुई मौत

- रफीगंज थाना के शारदा बिगहा गांव में बालक की मौत से मचा कोहराम

- बंदेया थाना क्षेते के बक्सर गांव में पशु करने गए दो किशोर की वज्रपात से मौत

- घायल चार ग्रामीणों का अस्पताल में चल रहा उपचार

विप्र.संवाददाता औरंगाबाद :

औरंगाबाद में रविवार शाम आकाशीय बिजली कहर बनकर गिरा। बारिश के साथ वज्रपात से छह अलग-अलग घटना में छह की मौत हो गई तथा चार ग्रामीण घायल हो गए। पहली घटना रफीगंज थाना क्षेत्र शारदा बिगहा गांव में हुई। वज्रपात से पिंटू यादव का 12 वर्षीय पुत्र मनीष कुमार की मौत हो गई। स्वजनों ने बताया कि मनीष खेत की तरफ गया हुआ था। बारिश होने के कारण पेड़ के नीचे खड़ा हो गया। यहां वज्रपात की चपेट में आ गया। घटना की सूचना पर स्वजन आनन-फानन में उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। बालक की मौत की खबर सुनते ही स्वजनों में कोहराम मच गया। अस्पताल में स्वजन चीत्कार मार रोने लगे। दूसरी घटना देव थाना क्षेत्र के बारा खुर्द एवं बरहेता गांव के बीच बधार में घटी। वज्रपात से बारा खुर्द गांव निवासी राजकुमार सिंह का 25 वर्षीय पुत्र हरेंद्र सिंह की मौत हो गई।  साथ मे रहे बरहेता गांव टोले अहीर बिगहा गांव निवासी बलिंद्र कुमार घायल हो गए। बताया जाता है कि दोनो बधार में पशु चरा रहे थे। बारिश शुरू होने के बाद पेड़ नीचे खड़े हो गए। वज्रपात में दोनों चपेट में आ गए। हरेंद्र की मौत मौत हो गई जबकि हरेंद्र घायल हो गए। हरेंद्र का उपचार अस्पताल में चल रहा है। तीसरी घटना रफीगंज थाना क्षेत्र के अमरपुरा पूर्वी गांव में घटी। वज्रपात से किसान घायल हो गए। घायल जगदेव यादव का उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में किया जा रहा है। चौथी घटना गोह प्रखंड बंदेया थाना क्षेत्र बक्सर गांव में घटी। वज्रपात से दो किशोर की मौत हो गई। मृतकों में बक्सर गम निवासी में रंजीत पासवान का पुत्र प्रिंस कुमार (16 वर्ष) एवं रंजन ठाकुर का पुत्र रोहित कुमार (15 वर्ष) शामिल हैं। बताया जाता है कि बक्सर गांव की उत्तर दिशा की ओर आहार के समीप दोनों किशोर पशु चराने गए हुए थे। बारिश के वज्रपात हुआ शुरू हो गया। वज्रपात की चपेट में दोनों किशोर आ गए। स्वजन दोनों किशोर को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोह ले गए जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। मौत की खबर सुनते ही स्वजन चीत्कार मार रोने लगे। पुलिस दोनों किशोर की शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराने की प्रक्रिया में जुट गई है। पांचवां घटना प्रतापपुर गांव में हुई। वज्रपात से सिद्धेश्वर यादव (55 वर्ष) की मौत हो गई। सिद्धेश्वर बधार में पशु चरा रहे थे। छठी घटना माली थाना क्षेत्र के सोरी गांव में हुई। वज्रपात से किसान युगल राम (60 वर्ष) की मौत हो गई जबकि जीरामनी देवी एवं मुसाफिर राम घायल हो गए। बताया जाता है कि तीनों बधार में खेत से घास निकाल रहे थे तभी वज्रपात के चपेट में आ गए। स्वजन तीनों को उपचार के लिए अस्पताल ले गए जहां चिकित्सक ने युगल राम को मृत घोषित कर दिया। जीरामनी एवं मुसाफिर का उपचार अस्पताल में किया जा रहा है। घटना के बाद शारदा बिगहा, बारा खुर्द, बक्सर, प्रतापपुर एवं सोरी गांव में मातम पसरा हुआ है।

हमारे Whatsapp Group को Join करें, और सभी ख़बरें तुरंत पाएं (यहीं क्लिक करें - Click Here)

Previous Post Next Post