इमामगंज में धू-धूकर जले अहंकारी रावण, बुराई का हुआ अंत | Ahankari Ravan ka Ant

इमामगंज में धू-धूकर जले अहंकारी रावण, बुराई का हुआ अंत | Ahankari Ravan ka Ant

इमामगंज से प्रभात सोनी की रिपोर्ट


इमामगंज (गया)
प्रखंड क्षेत्र में असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक दशहरा पर्व धूमधाम से मनाया गया। लोगों ने अपने घरों में अस्त्र-शस्त्र की पूजन किया। भगवान श्रीराम के आदर्शो पर चलने और बुराइयों को छोड़ने का संकल्प लिया। कई स्थानों पर राम-रावण युद्ध की लीलाओं का मंचन हुआ। रावण, कुंभकरण और मेघनाद के पुतलों का दहन किया गया। कई स्थानों पर आतिशबाजी भी हुई। इसके बाद विजय यात्राएं निकाली गई। इमामगंज के रानीगंज मोरहर नदी और बिश्रामपुर पुल के पास आयोजित श्रीरामलीला में विजयादशमी पर भगवान श्रीराम और अहंकारी रावण की सेना के बीच युद्ध हुआ, जहां तलवारें चलीं वहीं तीरों की बौछार हुई। अंत में रावण की सेना पराजित हुई। इसके बाद रावण के पुतले का दहन किया गया। इस दौरान हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ी पड़ी थी। 


वही इस मेल को लेकर स्थानीय प्रशासन के कड़ी सुरक्षा व्यवस्था किया गया था। मेला में भारी संख्या में लेडिस एवं जेंट्स जिला पुलिस वर्ग की टेंट किया गया था और केंद्रीय फोर्स के जवान मौजूद थे। वही मेला क्षेत्र में एंबुलेंस और फायर ब्रिगेड की बहन भी इमरजेंसी सेवा के लिए तैनात किया गया था। इसका निगरानी खुद इमामगंज एसडीपीओ अमित कुमार कर रहे थे। इसी के साथ विजयदशमी का त्यौहार का समापन हुआ।

हमारे Whatsapp Group को Join करें, और सभी ख़बरें तुरंत पाएं (यहीं क्लिक करें - Click Here)

Previous Post Next Post